Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2020

Dil Toota

#Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top Hindi Shayari 2020  हाँ मुझे दर्दे ए दिल का पता न था, और प्रेम का रोग लगा लिया , जब ठोकर लगी  और दिल टूटा  , फिर सोचा हाय हमने  ये क्या किया 

ZINDGI or KHWAHISHEIN ShayariDilKi

#Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top Hindi Shayari 2020 Zindagi ki bahon me kho gye hain is qadar, Ki sukoon k pal ko bhi taraste hain, Ahamiyat badal gyi hai , www.shayaridilki.com ज़िंदगी की बाँहों में खो गए हैं इस क़दर , की सुकून के पल को भी तरसते हैं, अहमियत बदल गयी है , www.shayaridilki.com Khwahishon ne kuch is qadar jhakjhora hai, Dost naate rishtedaaron ke facebook post ne, Armaano ko na jane kab kaise nichora hai, www.shayaridilki.com ख्वाहिशों ने कुछ इस क़दर झकझोरा है, दोस्त नाते रिश्तेदारों के फेसबुक पोस्ट ने , अरमानों को न जाने कब  कैसे निचोरा है, www.shayaridilki.com Dil se ab bas nikalti hai khwahishein khwahishein sirf khwahishein ... Wo adhuri ummido ka daaman , Wo kaali syahi k panne, Jispe likhe hote hain mere sapne, www.shayaridilki.com दिल से अब बस निकलती है ख्वाहिशें ख्वाहिशें सिर्फ ख्वाहिशें। ...... वो अधूरी उम्मीदों के दामन , वो काली स्याही के पन्ने , जिसपे लिखें होते हैं मेरे सपनें www.shayaridilki.com Un sapno ko pura

Popular posts from this blog

देखना सब अच्छा होगा

www.shayaridilki.com जिन्दगी का रन्ग है बड़ा निराला, जो कभी समझते रहे विजेता उन्होंनें ही कहा हमे हारा, हार की माला से नवाजा , मैं  चुप चाप रहा बन के नालायक आवारा , मान लिया हमें नकार दिया दुनिया ने , ये  जिन्दगानी बोझ है तुम हो इसके दुश्मन ,   www.shayaridilki.com जो दुनिया करती आयी वो नही किया तुमने, क्यूँ नही दौरे उसी रेस में जिसमें है सब बेबस लाचार, कभी तो करते तुम खुद पे विचार, अब क्या कहुँ मैने बहुत सोचा समझा, पर नहीं कर पाया वो जो सब कर रहे थे, नही जी पाया वो जिन्दगी जो सब जी रहे थे, www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com पढाई खूब की सबने अब तो ऊस पढाई से कमाई हुई,  नौकरी कर रहे थे, एक तनख्वाह की खातिर तिल तिल मर रहे थे जल रहे थे कभी खुद में, कभी देख कर दूसरों की जिन्दगी, वो सिसक रहे थे.  www.shayaridilki.com शादी भी कर ली , बच्चे भी हो गये ,  ये सब कर के अब जिन्दगी बस काट रहे थे, जो उन्होनें आज तक किया मशीन की तरह, बच्चों को भी वही सिखा रहे थे, www.shayaridilki.com कभी दिखते सोशल साइट पे मुस्कुराते हुये पर, दिल हि दिल वो भी कहिं खुशी दिखा के गम छान्ट रहे थे, एक अबूझ पहेली ये

अरमानों के सेज पर- shayari attitude

अरमानों के सेज पर तेरे जफ़ा के कांटे बिखरे मिले , सुन ए बेदर्द हमने उनको भी अपना बना लिया , तूने समझा मुझसे बेवफाई कर के तू अमीर हो जाएगी , पर दिल के रिश्तों का हिसाब किताब कुछ अलग है, जो जितना दर्द सहता है वो उतना मजबूत और अमीर होता है, और जो धोखा देता है वो संगदिल तो मुस्कुराता भी है तो दिल उसका न होता है , तूने लाख महफिलों में मुझे देखा होगा तेरी ओर देखते हुए, पर अब तू भी तो तरस जाएगी उन नज़रों के लिए जो सिर्फ तुझे ढूंढती है, ये मेरी मोहब्बत ही होगी जिसके लिए तू तरसी होगी , और मिलने पर इस मोहब्बत को ठुकरा के धोखे से जो तूने खोया है, तू अब भी इस मोहब्बत के लिए तरसती होगी... सुन बेवफा ये मेरी मोहब्बत है जिसका तुझे रंजो ग़म नहीं  , पर ये अब तेरी आदत होगी जिसका तूझे इल्म नहीं  , तड़पेगी तू भी इसी ग़म में की अब तेरा आशिक मैं नहीं , तरसेगी तू वैसे ही जैसे तड़पा ये दिल मेरा है सोंच के की तू मेरे प्यार के क़ाबिल नहीं, -admin #Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top HIndi Shayari 2020

Dil ke Jajbaat

www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com जज्बात अच्छे हैं , ख़यालात अच्छे हैं...   कुछ कहने की बात ही नही, तुम हो  तो हर लफ्ज़ सच्चे हैं......  www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com दर्द समुन्दर भर है सीने में , दिखाना शुरू करूंगा, तो उम्र बीत जाएगी , इसलिए हसता रहता हूँ , पर लोग समझते हैं मुझे फर्क ही नहीं परता, क्या कहुँ किसे कहूं यही सोंच के चुप रह जाता हूँ , बता कर भी क्या फायदा , ये दुनिया समझने से पहले समझाने लगेगी, जानने से पहले जताने लगेगी, दुनिया की समाज की रस्मों से डराने लगेगी , और जब एक सुशांत सिंह राजपूत चला जायेगा , तब मुझसे बात करो, दिल के जज्बात कहो, ये नगमों की तरह गुनगुनाने लगेगी, सच है काफिर होना अच्छा है , जीना अपनी शर्तों पे , खुश रहना संतुष्ट रहना , यही तो जिंदगी का रस देता सच्चा है , www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com खयाल ये हमने पाल रखा है , क्या करे...  मुश्किल है जीना पर ये भी सवाल दिल में  रखा है....  जियेंगे  कैसे? तुम आज हो कल