Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2020

Dil Toota

#Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top Hindi Shayari 2020  हाँ मुझे दर्दे ए दिल का पता न था, और प्रेम का रोग लगा लिया , जब ठोकर लगी  और दिल टूटा  , फिर सोचा हाय हमने  ये क्या किया 

कौन कहता है shayari 2 lines

#Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top Hindi Shayari 2020 कौन कहता है  की हंसी  आती है कलाकार के हँसाने पे , हम लोग हँसते  हैं उसके किरदार के तक़लीफ़ भरे फ़साने पे, है फितरत ये कैसी इस ज़माने की , जब खुद तकलीफ  में हो तो उम्मीद करते है ऊपर वाले से हमे बचाने की , और जब देखें वही तक़लीफ़ को बीतते औरों पर तब नाम देते है , ये हरकत  तो है हंसाने की , अरे जनाब ज़रा गौर से सोंचिएगा , कैसी है फितरत हम इंसानो की। kaun kehta hai ki hansi aati hai kalakar ke hansane pe, hum log hanste hain uske kirdaar ke taqleef bhare fasane pe, hai fitrat ye kaisi is jamne ki , jab khud taklif mein hai to ummid karte hai upar waale se hume bachane ki, aur jab dekhein wahi taqleef ko bitate auron par tab naam dete hain, ye harkat to hai hasaane ki, are janab jara guar se sonchiyega, kaisi hai fitrat hum insaano ki.  नोट :- यह एक व्यंगात्मक पंक्ति है उन हास्यास्पद चित्रण पर जिसे देख हम प्रायः हसने लगते हैं |           जैसे कोई फिसल के गिर जाये तो हम बहुता हँसते हैं , लेकिन वही हा

शायरी दिल की है - shayari in love

शायरी दिल की है सुनना गौर से, अगर  सुने नहीं तो पढ़ लेना गौर से, दिल की बात दिल से कही है हमने , चूक गए तो पछताओगे शिकायत न करना फिर किसी और से, दिल है मेरा तुमपे आया ये तो अनजान है,  देख तुम्हें  दिल मेरा होता बेईमान है , देखो न धड़कने से करता ये इंकार है, देखे बिना तुझको ये न करता कुछ काम है , साँसे भी करती बस तेरा इंतज़ार है, तुम कहाँ खोये हुए हो चाहता मेरा दिल बस तेरा दीदार है, सोच सोच के होता मन मेरा परेशान है , तुम्हे देखने की चाहत बढ़ रही है तेरे मेरे बीच कैसी ये दीवार है... Shayari dil ki hai sunana gaur se, Agar sune nhi to padh lena gaur se, Dil ki baat dil se kahi hai humne, Chook gaye to pachhtaoge shikayat na karna phir kisi aur se, Dil hai mera tumpe aaya ye to anjaan hai, Dekh tumhe dil mera hota beimaan hai, Dekho na dhadkne se karta ye inkaar hai, dekhe bina tujhko ye na karta kuch kaam hai, Saanse bhi karti bas tera intezaar hai, Tu kahan khoye huye ho chahta mera dil bas tera diddar hai, Sonch sonch ke hota mann mera pareshaan hai, tumhe d

तेरा इंतज़ार करते हैं - HINDI SHAYARI COLLECTION

किसी सूखी तड़पती जमीन की तरह तेरा इंतज़ार करते हैं , तुझे देखने की ललक है ऐसी की दीदार से तेरे सुकून का हम इस्तक़बाल करते हैं, तेरे इंतज़ार में प्यासी है निगाहें उस सूखी जमीन की तरह,  जो बारिश की  एक बूंद का सदियों से इंतज़ार जैसे करते हैं.....  -शायर ए बदनाम Kisi sukhi tadapati jameen ki tarah tera intezaar karte hain, Tujhe dekhne ki lalak hai aisi ki didaar se tere sukoon ka hum istaqbaal karte hain, Tere intezaar mein pyasi hai nigahein oos sukhi jameen ki tarah, Jo barish ki ek boond ka sadiyon se intezaar jaise karte hain... - Shayar e Badnaam #Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top Hindi Shayari 2020

अरमानों के सेज पर- shayari attitude

अरमानों के सेज पर तेरे जफ़ा के कांटे बिखरे मिले , सुन ए बेदर्द हमने उनको भी अपना बना लिया , तूने समझा मुझसे बेवफाई कर के तू अमीर हो जाएगी , पर दिल के रिश्तों का हिसाब किताब कुछ अलग है, जो जितना दर्द सहता है वो उतना मजबूत और अमीर होता है, और जो धोखा देता है वो संगदिल तो मुस्कुराता भी है तो दिल उसका न होता है , तूने लाख महफिलों में मुझे देखा होगा तेरी ओर देखते हुए, पर अब तू भी तो तरस जाएगी उन नज़रों के लिए जो सिर्फ तुझे ढूंढती है, ये मेरी मोहब्बत ही होगी जिसके लिए तू तरसी होगी , और मिलने पर इस मोहब्बत को ठुकरा के धोखे से जो तूने खोया है, तू अब भी इस मोहब्बत के लिए तरसती होगी... सुन बेवफा ये मेरी मोहब्बत है जिसका तुझे रंजो ग़म नहीं  , पर ये अब तेरी आदत होगी जिसका तूझे इल्म नहीं  , तड़पेगी तू भी इसी ग़म में की अब तेरा आशिक मैं नहीं , तरसेगी तू वैसे ही जैसे तड़पा ये दिल मेरा है सोंच के की तू मेरे प्यार के क़ाबिल नहीं, -admin #Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top HIndi Shayari 2020

Popular posts from this blog

देखना सब अच्छा होगा

www.shayaridilki.com जिन्दगी का रन्ग है बड़ा निराला, जो कभी समझते रहे विजेता उन्होंनें ही कहा हमे हारा, हार की माला से नवाजा , मैं  चुप चाप रहा बन के नालायक आवारा , मान लिया हमें नकार दिया दुनिया ने , ये  जिन्दगानी बोझ है तुम हो इसके दुश्मन ,   www.shayaridilki.com जो दुनिया करती आयी वो नही किया तुमने, क्यूँ नही दौरे उसी रेस में जिसमें है सब बेबस लाचार, कभी तो करते तुम खुद पे विचार, अब क्या कहुँ मैने बहुत सोचा समझा, पर नहीं कर पाया वो जो सब कर रहे थे, नही जी पाया वो जिन्दगी जो सब जी रहे थे, www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com पढाई खूब की सबने अब तो ऊस पढाई से कमाई हुई,  नौकरी कर रहे थे, एक तनख्वाह की खातिर तिल तिल मर रहे थे जल रहे थे कभी खुद में, कभी देख कर दूसरों की जिन्दगी, वो सिसक रहे थे.  www.shayaridilki.com शादी भी कर ली , बच्चे भी हो गये ,  ये सब कर के अब जिन्दगी बस काट रहे थे, जो उन्होनें आज तक किया मशीन की तरह, बच्चों को भी वही सिखा रहे थे, www.shayaridilki.com कभी दिखते सोशल साइट पे मुस्कुराते हुये पर, दिल हि दिल वो भी कहिं खुशी दिखा के गम छान्ट रहे थे, एक अबूझ पहेली ये

अरमानों के सेज पर- shayari attitude

अरमानों के सेज पर तेरे जफ़ा के कांटे बिखरे मिले , सुन ए बेदर्द हमने उनको भी अपना बना लिया , तूने समझा मुझसे बेवफाई कर के तू अमीर हो जाएगी , पर दिल के रिश्तों का हिसाब किताब कुछ अलग है, जो जितना दर्द सहता है वो उतना मजबूत और अमीर होता है, और जो धोखा देता है वो संगदिल तो मुस्कुराता भी है तो दिल उसका न होता है , तूने लाख महफिलों में मुझे देखा होगा तेरी ओर देखते हुए, पर अब तू भी तो तरस जाएगी उन नज़रों के लिए जो सिर्फ तुझे ढूंढती है, ये मेरी मोहब्बत ही होगी जिसके लिए तू तरसी होगी , और मिलने पर इस मोहब्बत को ठुकरा के धोखे से जो तूने खोया है, तू अब भी इस मोहब्बत के लिए तरसती होगी... सुन बेवफा ये मेरी मोहब्बत है जिसका तुझे रंजो ग़म नहीं  , पर ये अब तेरी आदत होगी जिसका तूझे इल्म नहीं  , तड़पेगी तू भी इसी ग़म में की अब तेरा आशिक मैं नहीं , तरसेगी तू वैसे ही जैसे तड़पा ये दिल मेरा है सोंच के की तू मेरे प्यार के क़ाबिल नहीं, -admin #Shayari dil ki #Hindi me Shayari #Top HIndi Shayari 2020

Dil ke Jajbaat

www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com जज्बात अच्छे हैं , ख़यालात अच्छे हैं...   कुछ कहने की बात ही नही, तुम हो  तो हर लफ्ज़ सच्चे हैं......  www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com दर्द समुन्दर भर है सीने में , दिखाना शुरू करूंगा, तो उम्र बीत जाएगी , इसलिए हसता रहता हूँ , पर लोग समझते हैं मुझे फर्क ही नहीं परता, क्या कहुँ किसे कहूं यही सोंच के चुप रह जाता हूँ , बता कर भी क्या फायदा , ये दुनिया समझने से पहले समझाने लगेगी, जानने से पहले जताने लगेगी, दुनिया की समाज की रस्मों से डराने लगेगी , और जब एक सुशांत सिंह राजपूत चला जायेगा , तब मुझसे बात करो, दिल के जज्बात कहो, ये नगमों की तरह गुनगुनाने लगेगी, सच है काफिर होना अच्छा है , जीना अपनी शर्तों पे , खुश रहना संतुष्ट रहना , यही तो जिंदगी का रस देता सच्चा है , www.shayaridilki.com www.shayaridilki.com खयाल ये हमने पाल रखा है , क्या करे...  मुश्किल है जीना पर ये भी सवाल दिल में  रखा है....  जियेंगे  कैसे? तुम आज हो कल